expect from the film, and who could possibly come across https://www.reddit.com/r/CertifiedWriters/comments/sa2jit/livepaperhelp_review/ learners how to deliver useful evaluate reviews somewhat than editing
how to structure an essay pdf freeessaywriter.org how to write cv for job
how to write an essay apa format paper help how to write email on paper

Population control low  अर्थात् जनसंख्या नियंत्रण कानून,  यह आंदोलन देश के देशभक्त , पत्रकार,  पुरोसैनिक, सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा शुरु किया है ।  जिसमें सुदर्शन न्यूज चैनल के संपादक श्री सुरेश चव्हाणके नेतृत्व कर रहे है । इसमें कई सामाजिक , धार्मिक क्षेत्र के लोग भी है । देश की सबसे ज्वलन्त समस्या जनसंख्या विस्फोट है । इस पर कोई बोल नही रहा है,  क्योकि इस पर जो बोलेगें तो इसके असंतुलन की बात आयेगी।  जिसमें मुस्लिमों की बढ़ती जनसंख्या ये भी मुद्दा आयेगा । इसीलिए देश के ज्यादातर सेकुलर इस समस्या से अपने आप को दूर रखे थे । लेकिन 15 नम्बर 2017 को सुरेश जी  ने इस मुद्दे का टीवी चैनल से आगाज किया । लगातार 45 दिनों कर 45 एपिसोड़ करके इस अभियान की लोगों के सामने शुरुवात की ।  यह अभियान कानून संसद मे सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून  आने तक जारी रहेगा । ये साइट अपडेट जारी होने तक इसके समर्थन में  सवा 6 करोड से अधिक लोगों ने मिडकॉल और हस्ताक्षर किए हुए है ,  और अभियान के अंतिम चरण का शुभारंभ 14 नम्बर 2019 को सुरेश जी ने किया है,  जिसमें आने वाले सासंद सत्र के दौरान इस कानून को प्रत्यक्ष लागू करने की योजना है । अभी तक 282 सासंदों ने इसका समर्थन किया है , 10 से ज्यादा मुख्यमंत्री ने किया है । इस मांग के बाद कई राज्यो ने  अल्प स्वरुप में इसको अपने  – अपने राज्यों में लागू भी किया है । 500 से ज्यादा विधायक और कई हजार से ज्यादा  मेयर और ग्राम पंचायत ने  भी इसका समर्थन किया है ।

यह अभियान क्यों ?

  • हिंदुस्तान जनसांख्यिकीय असंतुलन की गंभीर समस्या से जूझ रहा है। इसके कारण सामाजिक, सांस्कृतिक एवं राजनीतिक अस्थिरता एवं अव्यवस्था की समस्या विकट होती जा रही है।
  • देश के चहुमुंखी विकास, समृद्धि, प्रत्येक नागरिक की कुशलता और राष्ट्रीय एकता और अखंडता के लिए एक समान जनसंख्या नीति और प्रभावी कानून जरूरी है।
  • जनसंख्या असंतुलन और पर्यावरण का गहरा संबंध है। अनियंत्रित जनसंख्या जंगल की कटाई, जल एवं खाद्यान्न की कमी, भू-जैविक संसाधनों का ह्रास, स्वास्थ्य समस्याओं  और बार-बार आने वाली प्राकृतिक आपदाओं सहित कई अन्य  पर्यावरणीय एवं भू- पारिस्थितिकीय समस्याओं  के लिए जिम्मेदार है।

भारत बचाओ महारथयात्रा क्या है ?

यह महायात्रा सम्पूर्ण भारत में जनसंख्या नियंत्रण कानून के  निर्माण हेतु जनजागरण का अभूतपूर्व विराट आयोजन है।
इस यात्रा का प्रमुख उद्देश्य है  समाज और राष्ट्र के विविध सरोकारों के साथ  जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून बनाने हेतु सरकार को सहमत  करना।  राष्ट्र निर्माण ट्रस्ट के संस्थापक एवं मार्गदर्शक सुरेश चव्हाणके की भारत बचाओ महा रथयात्रा सुदर्शन  न्यूज़ चैनल के 12  वर्षों की तपस्या  के बाद सामाजिक-सांस्कृतिक एवं राष्ट्रीय सरोकार के मिशन और देश की एकता-अखंडता को समर्पित है।